कंप्यूटर में, नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है। कितने प्रकार की होती है। समझाइये।

कंप्यूटर में डाटा को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाना हो या डाटा का प्रयोग करना हो इसके लिए जरुरी है कंप्यूटर नेटवर्क का सही से काम करना। Computer Network Topology, कंप्यूटर को आपस में जोड़ने, डाटा को एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजने, डाटा के फ्लो आदि में मददगार होती है। तो आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे की Network Topology क्या होता है। नेटवर्क टोपोलॉजी कितने प्रकार की होती है (Types Of Network Topology), रिंग टोपोलॉजी क्या है (What is Ring Topology) बस टोपोलॉजी क्या होती है (What is Bus Topology) स्टार टोपोलॉजी क्या होती है (What is Star Topology) मेश टोपोलॉजी क्या है ( What is Mesh Topology) ट्री टोपोलॉजी क्या होती है (What is Tree Topology) आदि सभी के बारे में।

Computer Network Topology नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है।

नेटवर्क टोपोलॉजी (Computer Network Topology) “नेटवर्क टोपोलॉजी विभिन्न नोड्स या टर्मिनल को आपस में जोड़ने का तरीका हैं। इसमें यह बताया जाता है की नेटवर्क के विभिन्न नोड किस प्रकार एक – दूसरे से जुड़े होते है तथा कैसे एक -दूसरे के साथ संचार (communication ) स्थापित करते है।”

Computers को आपस में जोड़ने एवं उसमे डाटा संचार (Data Flow) की विधि टोपोलॉजी कहलाती है। टोपोलॉजी किसी नेटवर्क में कम्प्यूटर के ज्यामिति व्यवस्था (Geometric arrangement) को कहते है। यह विभिन्न नोड्स के बिच भौतिक संरचना को दर्शाता है।

यह भी पढ़े :

Types Of Computer Network Topology In Hindi नेटवर्क टोपोलॉजी के प्रकार

कंप्यूटर में नेटवर्क टोपोलॉजी (Network Topology) निम्न प्रकार की होती है।

  1. रिंग टोपोलॉजी (Ring Topology)
  2. बस टोपोलॉजी (Bus Topology)
  3. स्टार टोपोलॉजी (Star Topology)
  4. मेश टोपोलॉजी (Mesh Topology)
  5. ट्री टोपोलॉजी (Tree Topology)

रिंग टोपोलॉजी (Ring Topology) :-

इसमें सभी कम्प्यूटर एक गोलाकार आकृति में लगे होते है। प्रत्येक कम्प्यूटर अपने अधीनस्थ (subordinate) कम्प्यूटर से जुड़े होते है, इस नेटवर्क में सभी नोड्स में समान रूप से इंटेलिजेंस (Data Flow) होता है। इस कम्प्यूटर में कोई होस्ट, मुख्य या कंट्रोलिंग कम्प्यूटर नहीं होता। इसमें डेटा का प्रवाह हमेशा एक ही दिशा में होता है। परन्तु किसी भी एक केबल या नोड में कठिनाई आने पर दूसरे दिशा से संचार संभव है।

रिंग नेटवर्क (Ring Topology) में साधारण गति से डाटा का आदान-प्रदान होता है। तथा एक कम्प्यूटर से किसी दूसरे कम्प्यूटर को डाटा प्राप्त करने पर उसके मध्य के अन्य कम्प्यूटरो को यह निर्धारित करना होता है कि उक्त डाटा उनके लिए है या नहीं। यदि यह डाटा उसके लिए नहीं है तो उस डाटा को अन्य कम्प्यूटर में आगे (Pass) किया जाता है, आगे बढ़ा दिया जाता है।

Ring Topology

बस टोपोलॉजी (Bus Topology) :-

बस टोपोलॉजी (Bus Topology) में सभी नोड्स एक ही केबल में जुड़े रहते हैं। कोई भी नोड किसी दूसरे नोड को डेटा प्रेषित करना चाहता है तो उसे देखना होता है की बस में कोई डेटा प्रवाहित तो नहीं हो रहा है। बस खली रहने पर नोड, डेटा प्रेषित कर सकता है। डेटा प्राप्त करने के लिए हर नोड के पास इतनी इंटेलिजेंस होनी चाहिए की वह बस से अपने पता (address) ज्ञात कर डेटा प्राप्त कर सके।

Bus Topology में कम केबल की आवश्यकता होती है। तथा कोई नया नोड जोड़ना आसान होता है। परन्तु प्रमुख ट्रांसमिशन लाइन में कठिनाई आने पर सारा नेटवर्क विफल हो जाता है।

स्टार टोपोलॉजी (Star Topology) :-

इस नेटवर्क में एक केन्द्रीय नोड (Central Node) होता है। जो इंटेलिजेंस से युक्त होता है। बाकी नोड्स इससे जुड़े रहते है।स्टार टोपोलॉजी नेटवर्क में एक होस्ट कम्प्यूटर होता है। जिसे सीधे विभिन्न लोकल कम्प्यूटरो से जोड़ दिया जाता है। लोकल कम्प्यूटर आपस में होस्ट कम्प्यूटर द्वारा जोड़ा जाता है। होस्ट कम्प्यूटर द्वारा ही पुरे नेटवर्क को कंट्रोल किया जाता है। इस केन्द्रीय नोड को हब (Hub) कहते है।

स्टार टोपोलॉजी (Star Topology) में कोई एक केबल में कोई कठिनाई आने पर एक ही नोड विफल होता है परन्तु अगर हब में कोई कठिनाई आती है, तो सारा नेटवर्क विफल हो जाता है।

मेश टोपोलॉजी (Mesh Topology) :-

मेश टोपोलॉजी (Mesh Topology) को मेश नेटवर्क भी कहा जाता है। मेश एक नेटवर्क टोपोलॉजी है, जिसमे संयंत्र (Devices) नेटवर्क नोड (Nodes) के मध्य कई अतिरिक्त अन्तः सम्बन्ध (interconnections) से जुड़े होते है। अर्थात मेश टोपोलॉजी में प्रत्येक नोड नेटवर्क के अन्य सभी नोड से जुड़े होते है। यह नेटवर्क उच्च ट्रैफिक स्थिति में मार्ग को ध्यान में रखकर उपयोग किया जाता है। इसमें किसी भी स्त्रोत (source) से कई मार्गों से संदेश भेजा जा सकता है।

पूर्णतः इन्टरकनेक्टेड मेश नेटवर्क खर्चीला है, क्योकि इसमें ज्यादा केबल तथा हर नोड में इंटेलिजेंस की आवश्यकता होती है। इस नेटवर्क में उच्च सुरक्षा अनुप्रयोग में डाटा प्रेषित किया जाता है।

ट्री टोपोलॉजी (Tree Topology) :-

ट्री टोपोलॉजी में स्टार तथा बस दोनों टोपोलॉजी के लक्षण होते है। इसमें भी स्टार टोपोलॉजी की तरह एक होस्ट कम्प्यूटर होता है और बस टोपोलॉजी की तरह सारे कम्प्यूटर एक ही केबल से जुड़े रहते है। यह नेटवर्क एक पेड़ की तरह ही दिखाई देता है। इसलिए इसे ट्री टोपोलॉजी (Tree Topology) कहा जाता है।

tree topology

उम्मीद करता हूँ आपको समझ आया होंगा की Network Topology क्या होता है। नेटवर्क टोपोलॉजी कितने प्रकार की होती है (Types Of Network Topology), रिंग टोपोलॉजी क्या है (What is Ring Topology) बस टोपोलॉजी क्या होती है (What is Bus Topology) स्टार टोपोलॉजी क्या होती है (What is Star Topology) मेश टोपोलॉजी क्या है ( What is Mesh Topology) ट्री टोपोलॉजी क्या होती है (What is Tree Topology) आदि क्या होती है।

यह भी पढ़े :

5 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.